किसान रेल योजना 2021: Kisan Rail Yojana, ऑनलाइन बुकिंग, ट्रैन लिस्ट, रजिस्ट्रेशन, Online Registration

किसान रेल योजना 2021, Kisan Rail Yojana, Kisan Rail Yojana upsc, Dusri kisan rail seva, Kinsan rail route, teesari kisan rail, dusri kisan rail, dusri kisan rail kahan chali, 2nd kisan rail, Dusri kisan rail kab chali

किसान रेल योजना की घोषणा केंद्र सरकार ने फ़रवरी माह में की गयी थी इस योजना का उद्देश्य केंद्र सरकार और रेलवे के साथ देश के किसानो को लाभ पहुंचना है यह योजना की शुरुवात ०७ अगस्त २०२० को शुरू की गयी थी इस योजना के माध्यम से किसानो के लिए रेल गाड़िया चलाई जाएँगी

जो हमारे देश के किसान अपने सब्जिओ को एक शहर से दूसरे शहर तक ले जाने में जिन समस्याओ का सामना करना पड़ता था अब वो ख़त्म हो गया अब वो बहुत ही कम समय में मंडियों तक अपने सब्जी और फल फूल को ले जा सकते है।

Kisan Rail Yojana

Kisan Rail Yojana 2021

किसान रेल योजना किसानो के हित के लिए भारतीय रेलवे ने ०७ अगस्त २०२० को पहली ट्रैन चलाई थी पहली रेलगाड़ी महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के बीच चलाई गयी। अक्सर देखा जाता था की किसान अपनी बीज, सब्जी और फल समय से मंडियों में नहीं पंहुचा पते थे जिससे सब्जी और फल रस्ते में ही ख़राब होने लग जाते थे

और मंडियों में पहुंचने पर उनके सही भाव नहीं मिलते थे जिससे किसानो को बहुत नुकसान उठाना पड़ता था इस सभी समस्या का ध्यान में रखते हुए सरकार ने ये योजना का गठन किया जिसकी मदद से किसान बहुत ही काम समय में अपने सब्जी और फलो को मंडियों में पंहुचा सकते है। जिससे किसानो को बहुत ही लाभ मिलने लगा है।

किसान रेल योजना से होने वाले लाभ

हमारे देश के प्रधान मंत्री जी के द्वारा किसान रेल योजना का आरम्भ किया गया था इस योजना के माध्यम से किसान अपने फसल और सब्जियों को दूसरे राज्य के मंडियों में ले जाने के लिए रेलवे की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसको प्रधान मंत्री जी ने ट्रैन को हरी झंडी दिखाई और बोले की इससे किसानो को मदद मिलेगा साथ ही साथ किसानो की आमदनी भी बढ़ेगा जिससे खेती से जुडी अर्थव्यवस्था में बड़ा परिवर्तन आएगा। प्रधान मंत्री जी के द्वारा किसान रेल को हरी झंडी दिखते हुए सभी किसानो को बधाई दी गयी।

  • यह रेल योजना किसानो के खेती के लिए चलाई गयी है इस रेल के द्वारा पश्चिम बंगाल के किसानो, पशुपालको और मछुवारो की पहुंच देश के बड़े शहरों मुंबई, पुणे नागपुर के बड़े बड़े बाज़ारो तक पहुंचेगी। हमारे देश में कोल्ड स्टोरेज और भण्डारण की कमी से किसानो को बहुत नुकसान होता है लेकिन अब सरकार ने भण्डारण और सप्लाई में बहुत बदलाव किये जा रहे है और सरकार ऐसे आधुनिक करने का प्रयास कर रही है।
  • अब हमारे देश के किसान , किसान रेल योजना के माध्यम से दूसरे राज्य में भी अपना व्यापार को बड़ा सकते है साथ ही साथ अपने फसलों को बेच भी सकते है जिससे काम समय में उन्हें ज्यादा आमदनी होगी किसान रेल योजना में उपयोग होने वाले रेल वातानुकूलित होंगे जिससे फसलों का नुकसान न के बराबर होगा।
आयुष्मान भारत योजना - Aayushman Bharat Yojana 

Kisan Rail Yojana 2021 Highlights

योजना का नामकिसान रेल योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के किसान भाई
उद्देश्यकिसानो को फसलों को मंडी तक पहुंचाने के लिए ट्रैन की सुविधा प्रदान करना

Kisan Rail Yojana नई अपडेट

किसानो को और भी सशक्त बनाने के लिए हमारे प्रधानमंत्री जी ने इस योजना में और भी बहुत कुछ किसानो के लिए रखा है जैसे की इस योजना में किसानो के लिए रेल का किराये में ५०% की सब्सिडी प्रदान की जाएगी ये अनुदान केंद्र सरकार द्वारा दी जा रही है जिसमे किसानो को ५०% तक का किराया नहीं देना होगा ये सब्सिडी खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा अधिसूचित फलो और सब्जियों के परिवहन पर ही दी जाएगी।

किन वस्तुओ पर मिलेगा सब्सिडी।

  • फल – आम, केला , अमरुद , कीवी, लीची, पपीता, मौसमी, संतरा, कीनू, निम्बू, अनानास, अनार, कटहल,सेव,आवला,नाशपाती आदि।
  • सब्जिया – फ्रेंच बीन्स, करेला, बैगन, शिमला मिर्च, गाजर, फूलगोभी, हरी मिर्च,ओकरा, ककड़ी, मटर, लहसुन, प्याज, आलू, टमाटर आदि।
Kisan Rail Yojana
Kisan Rail Yojana

Kisan Rail Yojana का उद्देश्य

  1. किसान रेल योजना के अंतर्गत पहली किसान रेल रूट पर पड़ने वाले चार राज्यों महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश , उत्तर प्रदेश और बिहार को इस योजना का लाभ होगा।
  2. इस योजना में कोल्ड स्टोरेज के साथ साथ किसान उपज के परिवहन की भी अच्छी व्यवस्था की जाएगी।
  3. केंद्र सरकार ने २०२२ में किसानो की आमदनी को दो गुना करने का लक्ष्य तय किया है।
  4. किसान रेल एक प्रकार की स्पेशल पार्सल रेल होगी जिसकी मदद से अनाज , फल और सब्जियों को ही केवल ले जाने के लिए उपयोग किया जायेगा।
  5. इस योजना के अंतर्गत किसानो की फसलों को जैसे अनाज , फल और सब्जी आदि को समय से पहले ही सुरक्षित रेल के माध्यम से दूसरे राज्यों के मंडियों एवं बाजार तक पहुंचाया जायेगा।

Kisan Rail Yojana में रेल की रूट क्या है ?

Kisan Rail Yojana के तहत चलने वाली रेल शहर के बहुत से सिटी को जोड़ते हुए चलेगी जिससे सभी किसान भाइयो को इस योजना का ज्यादा लाभ मिल सके यह रेल देवलाली से चलकर नासिक रोड, मनमाड, जलगाव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर,सतना, कटनी, माणिकपुर, प्रयागराज, प दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर से दानापुर में रुकेगी। किसान रेल ताजी हरी सब्जिया, फल, फूल और अन्य कृषि उत्पादों को उनके गंतव्य तक समय से पहुचायेगा।

Kisan Rail Yojana में रेल का प्रति टन किराया क्या है ?

किसान रेल के माध्यम से किसान फल, सब्जियां, दूध आदि कम समय में मंडियों तक पहुंचा सकते हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को प्रति टन के हिसाब से किराया भरना होगा जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • देवलाली से दानापुर- Rs 4001/- प्रति टन
  • नासिक रोड से दानापुर- Rs 4001/- प्रति टन
  • मनमाड से दानापुर- Rs 3849/- प्रति टन
  • जलगांव से दानापुर-  Rs 3513/- प्रति टन
  • भुसावल से दानापुर-  Rs 3459/- प्रति टन
  • बुरहानपुर से दानापुर- Rs 3323/- प्रति टन
  • खंडवा से दानापुर- Rs 3148/- प्रति टन

Kisan Rail Yojana ऑनलाइन बुकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करे ?

किसान रेल योजना में जो भी हमारे किसान भाई और साथी लाभ उठाना चाहते है तो उनको इस योजना के अंतर्गत रेल बुकिंग के लिए उनको पहले से रजिस्ट्रेशन करना होगा उसके लिए आपको रेल की ऑफिसियल वेबसाइट पे जाना होगा और ज्यादा जानकारी के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!